Add

Sunday, March 20, 2011

प्रधान मंत्री मनमोहन सिंह को इस्तीफा देना ही पड़ा.---------तारकेश्वर गिरी

आज सुबह सात बज करके पचपन मिनट पर भारत के सबसे कमजोर प्रधानमंत्री ने इस्तीफा दे दिया. विपक्ष कि नारेबाजी से परेशान श्रीमान मनमोहन सिंह जी ने कठोर निर्णय लिया हैं. उन्होंने अपना इस्तीफा श्रीमती सोनिया गाँधी के कहने पे तैयार किया और आज सुबह- सुबह राष्ट्रपति महोदया के घर जा करके दे दिया.


विश्वस्त सूत्रों से पता चला हैं कि मनमोहन सिंह ने अपना इस्तीफा विपक्ष के दबाव में नहीं बल्कि सोनिया गाँधी के दबाव के चलते दिया हैं.


हुआ ये कि सुबह -सुबह ही मनमोहन सिंह जी को सपना आया कि सोनिया गाँधी जी ने उनके लिए और अपने लिए इटली में एक खुबसूरत एक कमरे वाला महल पसंद कर लिया हैं, और ये दोनों कुछ ही दिनों में वंहा रहने लगेंगे. अब ये सपना देखते ही सरदार जी बिना नहाये धोये चले गये सोनिया जी के पास , और कहने लगे मैडम इटली तो बाद में चलेंगे पहले होली तो खेल ले..........


बस तुरंत मनमोहन सिंह जी के ऊपर दबाव आया. और इस्तीफा देना पड़ा.


बुरा न मानो होली हैं , बुरा ना मानो होली हैं, बुरा न मानो होली हैं.
Post a Comment