Add

Sunday, March 28, 2010

Tarkeshwar Giri जी वह लेख हमारे फायदे में था वर्ना आपको अब तक 10 बार समझा दिया गया होता, भूल गये ब्‍लागिंग में वाइरस नाम की कोई चीज है,-Mohammed Umar

कैरान्वी साहेब , मुझे वाइरस दिखाने से अच्छा है की खुद में वाइरस देखोमैंने तो सिर्फ प्रितिबिम्ब दिखाया है, एक छोटा सालेख आपके फायदे मैं था इस लिए आप शांत हैनहीं तो आप क्या समझाते मुझेसमझाना ही है तो समझाइये अपने डॉ अनवर को

कंहा थे आप जब अनवर साहेब खुले रूप मैं धर्म ग्रंथो के बारे मैं उल्टा पुल्टा लिख रहे थेमैंने तो सिर्फ आपके पवित्र कुरान की कॉपी दिखाई है

किसी के धर्म ग्रंथो में से सिर्फ कमिया निकाल कर के लोगो के सामने रखना कंहा की समझदारी थीतब तो बहुत गुरु जी गुरु जी कह कर के सर पे चढ़ा रखा thaa।

और मैंने फिर भी अपने संस्कारो का परिचय देते हुए लोगो को ये दिखाने की कोशिश की है धर्म ग्रंथो का आधार हजारो साल पहले के समाज के ऊपर आधारित था ना की आज के हिसाब से





Post a Comment