Add

Friday, August 13, 2010

मंहगाई सोनिया खा गई- तारकेश्वर गिरी.

शीला कि लीला देख - जटा धारी बैठे हैं चुप-चाप ,
कि महंगाई सोनिया खा गई
महारानी कि प्रतिभा हो गई बेकार ,
कि मंहगाई सोनिया खा गई।



माया कि माया हैं अपरम्पार - जटा धारी बैठे हैं चुप -चाप,
कि मंहगाई सोनिया खा गई।
खेल - खेल में खेल गए अरबो - कलमाड़ी कि हालत हो गई ख़राब,
कि मंहगाई सोनिया खा गई।
Post a Comment