Add

Sunday, June 2, 2013

एक साल बाद

फेसबुक मैं स्टेट्स अपडेट करने और काम मैं इतना बिजी हो गया की मैं ये भी भूल गया था की मेरा कोई अपना ब्लॉग भी है…। 

दरअसल अपने ब्लॉग की तबियत पिछले साल से ही ख़राब चल रही थी . जब उसको जगाने के लिए तैयार होता वो उठता ही नहीं था. बार बार हैंग हो जाता था , परन्तु आज जाके इस कुम्भकरण की नीद खुली है. तो फिर मैंने भी सोचा की चलो सबसे राम-राम और सलाम ही कर ले.



Post a Comment