Tuesday, May 4, 2010

अल्लाह ने कहा था - गोली मारने के लिए

अल्लाह ने कहा था - गोली मारने के लिए , खबर शिकागो की है। दिल्ली से छपने वाले एक हिंदी दैनिक अख़बार जिसका नाम है- आज समाज। इस समाचार पत्र मैं दिनांक १६/०४/२०१० को एक खबर छापी जिसका शीर्षक था- अल्लाह ने कहा था - गोली मारने के लिए । खबर इस प्रकार है -

शिकागो मैं एक व्यक्ति को पांच लोगो को गोली मारने के आरोप मैं गिरफ्तार किया गया है । व्यक्ति ने दावा किया है की उसे ऐसा करने का आदेश ' अल्लाह' से मिला था । पुलिस ने बताया की व्यक्ति ने अपनी पत्नी , अपनी तीन बेटियों और अपनी माँ को गोली मार दी ।

पुलिस ने व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया लिया है , लेकिन उसकी पहचान नहीं बताई गई है। शिकागो SUN TIMES ने सूत्रों के हवाले से कहा है की गोली मारने वाले ने पुलिस को बताया की उसे अपने परिवार को मारने का आदेश 'अल्लाह' से मिला था।

अगर ये खबर अच्छी लगे तो पसंद की बटन जरुर दबायें और बुरी लगे तो नापसंद की बटन जरुर दबायें.

19 comments:

HTF said...

जरूरी जानकारी लोगों तक पहुंचाने का अच्छा प्रयास

भारतीय नागरिक - Indian Citizen said...

कैसे लिख दिया आपने यह सब. अभी तालिबानी आयेंगे आपके ब्लाग पर आपको गलत और उसे सही ठहराने के लिये.. तैयार रहें..

सतीश सक्सेना said...

मानसिक विकृति के लोग कब क्या कर लेंगे कुछ नहीं कहा जा सकता ! यह किसी के नहीं होते तारकेश्वर भाई !

Tarkeshwar Giri said...

Ek mere muslim mitra hai riman Iqramuddin ji . wo khud hi kahte hain ki inka koi bharosha nahi hai.

Tarkeshwar Giri said...

Ek mere muslim mitra hai Sriman Iqramuddin ji . wo khud hi kahte hain ki inka koi bharosha nahi hai.

Mrs. Asha Joglekar said...

सतीश जी से सहमत । और विकृत कोई बी हो सकता है हिन्दू, मुसलमान या इसाई नही ।

Suresh Chiplunkar said...

हा हा हा हा हा गिरी जी…
अधिकतर सलाह और आदेश अल्लाह ही देता है, बच्चे पैदा करने से लेकर, RDX रखने तक सभी…

और ऐसे "आदेश" मानने वालों की संख्या भी इफ़रात में भरी पड़ी है।

राज भाटिय़ा said...

किसी नेक काम के लिये कोई इन्हे आदेश क्यो नही देता है जी

AlbelaKhatri.com said...

हद हो गई जनाब............

हद क्या हद का बाप हो गया

अल्लाह भी सोचता होगा

ऐसे लोगों को बनाना पाप हो गया

पं.डी.के.शर्मा"वत्स" said...

भाटिया जी का कहना दुरूस्त है कि अल्लाह इन लोगों को नेक कामों का आदेश क्यूं नहीं देता....क्य़ूं ये ससुरे जेहादी अपने हर कुकर्म को अल्लाह के मत्थे मढ देते हैं....

पी.सी.गोदियाल said...

चलो एक और स्वार्थी कायर ने अपनी इच्छा पूर्ती के लिए अल्लाह का सहारा लिया !

इस्लाम की दुनिया said...

महान पोस्ट !!!
मेरे ताजे-ताजे ब्लॉग पर अवश्य पधारें

इस्लाम की दुनिया said...

महान पोस्ट
कृपया मेरे ब्लॉग पर भी पधारें और मुझे कृतार्थ करें

इस्लाम का नजारा देखें

सलीम ख़ान said...

Its totaly MEDIA CREATION

वन्दना said...

राज भाटिया जी से सहमत हूँ।

Mohammed Umar Kairanvi said...

गिरि जी chod कहा है या chhod कहा है, जल्‍द ध्‍यान दें वरना अनवर साहब बुरा मान जायेंगे

Tarkeshwar Giri said...
Anwar jamal ko kidhar chod diya apne



कैराना में शिक्षा एवं सामाजिक जागरूकता लाने के लिये आयी ब्लागजगत की मशहूर हस्तियां
http://umarkairanvi.blogspot.com/2010/05/blog-post.html

संजय बेंगाणी said...

यह एक मानसिक बिमारी का उदाहरण है.

ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ said...

मानसिक विकृति के लोग दुनियाभर में भरे हुए हैं। छोड दो उनके हाल पर। आओ हम कुछ बेहतर करें।

राजेन्द्र मीणा 'नटखट' said...

kamaal hai aisa allh unhe kaha mila ....ek achhi jaankaari ke liye shukriyaa

http://athaah.blogspot.com/