Tuesday, April 6, 2010

सबसे बड़ा नक्सली हमला, 75 जवान शहीद


जागरण न्यूज़. खबरे तो बहुत पढ़ते होंगे आप लोग मगर इस खबर को भी ध्यान से पढ़ेटिप्पड़ी की कोई जरुरत नहीं है क्योंकि ये खबर जागरण न्यूज़ से कॉपी की हुई है


छत्तीसगढ़ में दंतेवाड़ा जिले के मुकराना के जंगलों में सुबह से ही नक्सलियों के खिलाफ 'आपरेशन ग्रीन हंट' की कार्रवाई की तैयारी चल रही थी। इसके तहत सीआरपीएफ और राज्य पुलिस के जवान एक सड़क पर से अवरोध हटाकर वापस लौट रहे थे। सुबह छह से सात बजे के बीच का समय रहा होगा। सुरक्षा बलों के ट्रक के आगे एक एंटी लैंडमाइन वाहन चल रहा था। सबसे पहले नक्सलियों ने इस वाहन को आईईडी [इम्प्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस] विस्फोट से उड़ा दिया। वाहन के ड्राइवर की तभी मौत हो गई। इसके बाद सुरक्षा बलों पर अंधाधुंध फायरिंग शुरू हो गई। हालांकि सुरक्षा बलों ने भी जवाबी फायरिंग शुरू कर दी। लेकिन नक्सली चूंकि पास की पहाड़ी पर जमे हुए थे, इसलिए सुरक्षा बल उनके छापामार युद्ध का आसानी से शिकार हो गए। नक्सलियों ने सुरक्षा बलों के हेलीकाप्टर को भी निशाना बनाया, लेकिन कामयाब नहीं हुए।

नक्सलियों के गढ़ माने जाने वाले दंतेवाड़ा में हुए इस हमले के बाद सुरक्षाकर्मियों के 75 शव निकाले जा चुके हैं। हमले में घायल सात जवानों को घटनास्थल से निकाल कर अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है।

और कितने मासूम सिपाहियों की जान लेगी हमारी सरकार

जागरण न्यूज़

3 comments:

बैरागी said...

बहुत दुख हुआ खबर पढकर

इस देश में देशभक्तों की कोई कद्र नही है
धिक्कार है ऐसी सरकार को
थू है ऐसी सरकार को

भगवान शहीदों की आत्मा को शांति दे व् उनके परिवार वालो को इस दुःख को सहने की शक्ति दे

राज भाटिय़ा said...

बैरागी जी की टिपण्णी ही मेरी टिपण्णी समझे

समय said...

आखिरी पंक्ति।
‘और कितने मासूम सिपाहियों की जान लेगी हमारी सरकार।’

खबर के प्रति पाठक का पूरा नज़रिया ही बदलने की ताकत रखती है।

खबरों के साथ यह जरूरी लगता है।

अच्छा लगा।

शुक्रिया।