Sunday, March 7, 2010

विश्व की सबसे गन्दी नदी -यमुना नदी.

शायद ये सच हो, की यमुना पुरे विश्व की सबसे गन्दी नदी हो, या सबसे बड़ा नाला कह सकते हैंवैसे देखा जाय तो यमुना नदी इतनी गन्दी भी नहीं हैंक्योंकि अगर इतनी गन्दी होती तो शायद आधी दिल्ली प्यासी ही रहती , मगर फिर भी गन्दी हैं, सालो -साल तक करोडो रुपये खर्च कर दिए जाते हैं गंदे नाले के पानी को साफ करने के बहाने

वजीराबाद तक यमुना का पानी बिलकुल साफ है पीने लायक , मगर वजीराबाद के तुरंत बाद यमुना नदी से गंदे नाले की बू आने लगती है, उसकी वजह वजीराबाद और मजनू के टीले के पास यमुना में मिलता गन्दा नालासबसे पहले दिल्ली में यमुना इधर ही मैली होती हैंऔर सरिता विहार तक पूरी तरह से बर्बाद हो जाती हैं

यमुना नदी को तो वजीराबाद में हो रोक कर के रखा गया है, इधर तो सरिता विहार तक यमुना नाला हैउस नाले की सफाई में सरकार हजारो करोड़ रुपये खर्च कर चुकी है और पता नहीं कितने करोड़ और खर्च होंगे

सरकार को चाहिए की यमुना नदी के किनारे-किनारे सफेदा और बबूल जैसे ज्यादा पानी पीने वाले पेड़ लगाने चाहिए ये पेड़ यमुना का गन्दा पानी हजारो लीटर रोज ख़त्म करते रहेंगे

4 comments:

DR. ANWER JAMAL said...

nice idea.
i vote u.

Tarkeshwar Giri said...

magar jamal bhai insaniat ke nam par bhi mere sath aa jawo, dharm insan se bada nahi hai.

राज भाटिय़ा said...

अजी यह हाल सब नदियो का है, ओर हर शहर के गंदे नाले सीधे हमारी नदियो मे ही जाते है, क्यो कि हमारे यहां हजारो करोदो रुपये इन नदियो को साफ़ करने के नाम पर नेताओ की जेब मै जाते है, बस कुछ ओर कारण नही, अगर यह पेसा सिस्टम पर खर्च हो तो यह नदियां कितनी साफ़ हो.
बहुत सुंदर लिखा

amlendu asthana said...

Nadi nahi hogi to Kumbh snan kisme karoge. Apne achchha prahar kya hai.