Saturday, July 20, 2013

इंडियन और भारतीय कहने में शर्म नहीं आती .

इंडियन और भारतीय कहने में शर्म नहीं आती .

जब  इंडियन और भारतीय कहने में शर्म नहीं आती है तो फिर हिन्दू या हिंदुस्तानी कहने में  शर्म क्यों आती है,  हमारे देश को अंग्रेजो ने लुटा जो लुटा , लेकिन अपने पीछे जिनको छोड़ गए , वो हमारी पहचान ही बदलने में लग गये.


4 comments:

दीर्घतमा said...

काश--! हमारा स्वाभिमान जगता और विश्व के सामने हम गर्व से कहते हम हिन्दू हैं------.

पूरण खण्डेलवाल said...

सही कहा !!

Tarkeshwar Giri said...

Hum sab hindu hain....yanha rahne wali jati anek hai.

shikha kaushik said...

SAHI KAHA HAI AAPNE .AABHAR