Wednesday, September 10, 2008

खुबसूरत फूल

1 comment:

प्रकाश बादल said...

अरे भाई आप समझे नहीं, ऐसा करके मां बाप ये साबित करना चाहते हैं कि अब बेटा बेटी में फ़र्क क्या बेटे गुंडागर्दी फैला सकते हैं तो बेटियां फूहड़्पन तो फैला ही सकती है। मां बाप को तो गर्व होना चाहिए इस पर अरे भाई आधुनिक युग है। अब आप समझ गए न।

जै राम जी की।

आपको बधाई भी ब्लॉग जगत में आने की।